Monarchy के शाब्दिक अर्थ की बात करें तो यह होता है “साम्राज्य” और साम्राज्य का सीधे तौर पर आप मतलब जानते है कि इस तरह की व्यवस्था में एक राजा होता है जो अपने राज्य पर राज करता है और उसके इलाके या साम्राज्य में सभी तरह की शक्तियां राजा में ही निहित होती है और वह जिस तरह से चाहे राज कर सकता है और युद्ध के समय में अपनी सेना का नेतृत्व कर सकता है | इतिहास में सभी तरह के आचरण के राजा हुए है जिनमें से कुछ जनता के लिए बेहतर या बहुत अच्छे रहे है तो कुछ बेहद क्रूर और महत्वाकांक्षी रहे है | पुराने तरह के राजतन्त्र को जिसे आपने फिल्मो में देखा है या इतिहास की किताबों में पढ़ा है इसे ही अंग्रेजी में Monarchy कहते है तो चलिए इसी बारे में कुछ और बात करते है –

Monarchy explanation modern history in hindi

Monarchy शब्द अभी भी प्रचालन में है और इसकी वजह history नहीं है बल्कि इसलिए क्योंकि आज भी दुनिया में 30 से अधिक देश ऐसे है जन्हा Monarchy system अभी भी है भले ही उनकी सरंचना में विभिन्नता ही क्यों ना हो | थोडा डिटेल्स में अगर बात करें तो बहुत से देशो में आज लोकतंत्र है जन्हा देश में रहने वाली जनता अपने नेताओं का चुनाव करती है और अपने प्रतिनिधि खुद चुनती है और ऐसा अधिकांश देशों में है लेकिन कुछेक देशों में आज भी पुराने जमाने की तरह राजा महाराजा का सिस्टम कायम है और यह दो तरह का होता है –
Monarchy explanation modern history in hindi
Monarchy explanation modern history in hindi

  • Absolute monarchy – संपूर्ण एकाधिपत्य साम्राज्य
    Constitutional monarchy – संवैधानिक साम्राज्य

    Absolute monarchy – इस तरह की व्यवस्था में ऐसा होता है कि एक व्यक्ति ही पूरे तंत्र की सभी तरह की शक्तियों का मालिक होता है और जनता अपने नेता को खुद नहीं चुनती है | आप उस व्यक्ति को राजा कह सकते है सुलतान या किंग कहके भी संबोधित कर सकते है | ऐसे में राजा खुद अपनी मर्जी से उन लोगो को चुनता है जो सत्ता को संभालने में उसकी मदद करते है | अधिकतर देखा गया है कि जिन देशो में Absolute monarchy होती है वंहा पर खुले तरीके से मानवाधिकार का उल्लंघन होता है | उदाहरण के तौर पर आप UAE यानि के संयुक्त अरब अमीरात को ले सकते है जन्हा पर Absolute monarchy है |
Constitutional monarchy – इस तरह के राजतन्त्र में किसी राजा या सुलतान जो होता है उसके पास सभी तरह के अधिकार नहीं होते है बल्कि वह उस देश या इलाके का संवैधानिक प्रतिनिधि होता है वो भी एक प्रतीक के तौर पर | किसी भी तरह के राजनितिक अधिकार या देश से जुड़े फैसले लेने का अधिकार उसके पास नहीं होता है | हालाँकि कुछ विशेष स्थितिओं में यह कुछ अलग हो सकता है जो कि अलग अलग देश जिनमे Constitutional monarchy होती है उन पर निर्भर करता है | आमतौर पर पार्लियामेंट देश के सभी तरह के काम देखती है और सरकार और उसके विभागों को नियंत्रित करती है और राजा के पास केवल सलाह और मार्गदर्शन देने के अलावा कुछ ही अधिकार होते है | आप उदाहरण के लिए ब्रिटेन की महारानी को ले सकते है क्योंकि इंग्लैंड में भी Constitutional monarchy है |
तो ये है Monarchy explanation modern history in hindi और अधिक जानकारी या सलाह के लिए आप हमे ईमेल कर सकते है और हमसे regular hindi updates पाने के लिए आप हमसे ईमेल सब्सक्रिप्शन ले सकते है या हमे फेसबुक पर भी follow कर सकते है |

0 टिप्पणियां